माँ बगलामुखी पूजन – जमना गुरु | माँ बगलामुखी मंदिर, नलखेड़ा

बगलामुखी साधना में सावधानी।

बगलामुखी शत्रु नाश/विनाश पूजा

बगलामुखी की साधना में पवित्रता, नियम और शौचादि का ध्यान रखना जरूरी है। इस साधना को किसी जानकार से पूछकर या जानकर ही करना चाहिए। कुछ लोग आकर्षण, मारण तथा स्तंभन कर्म आदि तामसी प्रवृति से संबंधित कर्म भी किए जाते हैं लेकिन इनमें सावधानी नहीं रखी गई तो हानि होती है

माँ बगलामुखी के आशीर्वाद से सर्वत्र क्षेत्र में सफलता प्राप्ति की जा सकती है,, माँ बगलामुखी की पूजा कभी विफल नही होती है, इनकी पूजा से जीवन की सारी बाधाओ का विनाश किया जा सकता है, हर असम्भव कार्य सम्भव हो जाता है, मनुष्य जीवन मे हर छोटी बड़ी समस्या हमारे कार्य मे होती है

जो इंसान अपने आप उन्हें दूर नही कर सकता, ऐसी समस्या से निजात पाने के लिए माँ बगलामुखी कलयुग में स्वयं विराजमान है। माँ बगलामुखी का तंत्र इतना महाशक्ति शाली है कि आप जीवन के हर सुख को प्राप्त कर सकते है

तंत्र के छः षट्कर्म होते है

बगलामुखी की साधना में पवित्रता, नियम और शौचादि का ध्यान रखना जरूरी है। इस साधना को किसी जानकार से पूछकर या जानकर ही करना चाहिए। कुछ लोग आकर्षण, मारण तथा स्तंभन कर्म आदि तामसी प्रवृति से संबंधित कर्म भी किए जाते हैं, लेकिन इनमें सावधानी नहीं रखी गई तो हानि होती है

माँ बगलामुखी के आशीर्वाद से सर्वत्र क्षेत्र में सफलता प्राप्ति की जा सकती है, माँ बगलामुखी की पूजा कभी विफल नही होती है इनकी पूजा से जीवन की सारी बाधाओ का विनाश किया जा सकता है, हर असम्भव कार्य सम्भव हो जाता है, मनुष्य जीवन मे हर छोटी बड़ी समस्या हमारे कार्य मे होती है

जो इंसान अपने आप उन्हें दूर नही कर सकता, ऐसी समस्या से निजात पाने के लिए माँ बगलामुखी कलयुग में स्वयं विराजमान है माँ बगलामुखी का तंत्र इतना महाशक्ति शाली है कि आप जीवन के हर सुख को प्राप्त कर सकते है

error: Content is protected !!